07 दिसंबर 2013

पृथ्वी रुक रुक कर कम्पित होगी

ये सभी संकेत पिछले दिनों में । और इनमें से कई घटनायें होने भी लगी । कृपया हालिया कुछ घटनाओं हेतु निम्न साइट देखें ।
- ज्वालामुखी, भूकंप, धूमकेतु, हिमयुग, समुद्रों का खौलना, समुद्रों में अम्लता का बढ़ना, पृथ्वी की घूर्णन गति का धीमा होना, समुद्री जीवों का मरना, भयावह मौसम, महामारी, आबादी का नाश ।
http://www.sott.net/article/269256-Volcanic-eruptions-rising-CO2-boiling-oceans-and-why-man-made-global-warming-is-not-even-wrong
आसमानी घटनाओं हेतु
http://www.sott.net/category/17-Fire-in-the-Sky
प्रथ्वी की घटनाओं हेतु
http://www.sott.net/category/4-Earth-Changes
ना कुछ तेरा ना कुछ मेरा । चिङिया रैन बसेरा ।
**********
अंगकोर वट होगा विदीर्ण ( ध्वस्त )  । 
बोलीविया में नरक का नजारा । 
मलय भूमि पर होगा नए द्वीप का विस्तार ।
मिशीगन में जल भराव  ।
रेडियोधर्मी विकरण का गहन दुष्प्रभाव ।
यूगोस्लाविया का तटबंध हटा ।
मिजोरम में द्वीप समूह का निर्माण ।
पृथ्वी के केंद्र के घूर्णन पर दबाव बढेगा ।
इससे रिक्टर स्केल में वृद्धि होगी ।
5 गुना वृद्धि होगी । 3 पैमाने, स्तर होंगे - 5, 10 और 15 ।
15 (  के पैमाने ) हवाई द्वीपों पर होंगे ।
10  तक के रिहाइशी इलाकों पर होंगे ।
एक तिहाई आबादी जल में समा जाएगी ।
दो तिहाई का नामोनिशान मिट जायेगा ।
वर्मा में कहर ।
मोंट्रियल ओट्टावा ( तट पर कहर ) ।
जोशुआ ट्री, येलो स्टोन सक्रिय ।
पृथ्वी पर बहुत सी जगहों पर भूगर्भ जल स्तर शून्य ।
बाहरी जल स्तर बढेगा ।
पृथ्वी की घूर्णन गति ( केंद्र में ) ... ?
( अदृश्य ) प्राकृत प्रलय ।
न्यू जकार्ता ।
पृथ्वी के केंद्र में दबाव 300 घन मीटर बढेगा ।
100 करोड़ लोग आग से प्रभावित ।
नार्थ करोलिना में धूमकेतु से तबाही ।
कैस्पियन सागर में कुछ होगा ।
एटलांटा के ध्रुव पर होल ( छेद ) ।
अमेरिका रूस के ऊपर दबाव दाल रहा है कि वो चीन का विरोध करे ।
(?) रासायनिक हथियारों की खेप है ।
अलास्का के 100 km दायरे में तूफ़ान आयेगा  ।
हिमशिला बही ।
सीप या शीप ( भेड़ ?) में महामारी ।
85 नए धूमकेतु ।
न्यू डील नाम का वायरस जो कंप्यूटर को हैक कर लेगा ।
सभी प्रमुख कंप्यूटर निष्क्रिय । 
सूचना तंत्र के आधार ( सर्वर ) पर हमला ।
सूचना तंत्र पर असर ।
प्राकृत प्रलय ( अंदरूनी घटकों से ) ।
राशुआ (?) ।
पेंटागन होगा राख का ढेर ।
समुद्र से आ रहे हैं घड़ियाल बाहर ।
85 नए धूमकेतु आ रहे हैं । जुलाई तक इनका आना चालू हो जायेगा ।
भारत के निचले हिस्से डूबेंगे ।
कुपवाड़ा में लहर ।
रोहतक दर्रे में दो झीले उभरेंगी ।
37 नए टापुओं का उदय ।
अभी के 6 टापू क्षितिज तक जलमग्न दिखाई देंगे ।
नॉर्वे से केनिया तक ध्रुव पलटेगा ।
सौर्य विकिरण का तीक्ष्ण प्रभाव ।
रक्त जनित बीमारियों की वृद्धि ।
चिली में भूकंप धराशाई करेगा ।
अमेरिका के दो विमान चीन में चले गए थे । चीन राडार भेदी राकेट मिसाइल पेंटागन पर दागेगा ।
बादलों में काले धब्बे, विकिरण, कार्बोन मोनोऑक्साइड, नाइट्रोजन ( ऑक्साइड ) सल्फ्यूरिक अम्ल, हेक्साइड, तरल अमोनिया, अम्ल सान्द्रता क्षार बढेगा ।
पृथ्वी रुक रुक कर कम्पित होगी ।
पेंटागन की विदेश नीति विफल ।
बन्दर ( जानवर ) पहाड़ पर जा रहे हैं ।
1 कोशीय अमीबा, जेलीफिश की संरचना विकृत होने लगी ।
उत्तरी हिमखंडों में भीषण टकराव ।
उत्तरी पठारों में घर्षण बल दुगना ।
मेनचेस्टर में काला भूकंप ।
मेन स्ट्रीम में उबाल ।
तुर्कमेनिस्तान से होकर तूफ़ान आएगा सिन्धु घाटी तक ।
लाल सागर में उफान आने वाला है ।
सिन्धु घाटी की तरफ आयेगा ।
300 से 800 km प्रति घंटे की रफ़्तार पकड़ेगा तूफ़ान ।
न्यूज़ीलैण्ड धंस रहा है ।
तूफ़ान तुर्कमेनिस्तान से होकर सिन्धु घाटी तक आएगा ।
इन सभी घटनाओं का असर ( अभी ) मध्य एशिया तक सीमित रहेगा ।
निचले हिस्से में अधिकतर तबाही होगी ।
घटाटोप अन्धकार ।
मलाया और इथोपिया में कुछ होगा ।
मोरक्को में भीषण तबाही ।
रेड रिएक्टर ( गामा विकिरण ) तोड़ेगा चक्रव्यूह ।
आसमानी छतरी होगी पीली ।
फ्लोरिडा हेक्सागन/हेक्सोगन (?) ।
सौर्य तूफानो की गिनती बढ़ेगी ।
सूर्य से निकल कर गामा किरणे चाँद से टकरा कर धरती पर आएँगी ।
ये किरणें समुद्र में कुछ करेंगी ।
हीट एक्सप्लोजन ।
लैला ट्रिपल तूफ़ान  ।
महा केतु का सूर्य से घर्षण ।
हेक्सोगन फ्लोरिडा में जल वृद्धि ।
अटलांटिक सागर से उठेगा नीला तूफ़ान ।
संशोधन करना है - सागर की तलहटी से गैसों का उत्सर्जन बढेगा । इससे टापू धसेंगे ।
संशोधन करना है - बेरुत, त्रिनिदाद में लोहित पट्टी पर धरती धसेगी ।
संशोधन करना है - सीरिया में हवाई हमला, सीरिया टूटेगा ।
एक टिप्पणी भेजें

Follow by Email