20 अक्तूबर 2016

पासवर्ड का एक यूज यह भी

एक बार एक अजनबी ने एक 8 साल की लङकी से कहा - बेटा तुम मेरे साथ चलो । तुम्हारी मम्मी ने तुम्हें बुलाया है । उनकी तबियत खराब है और उन्होंने मुझे तुम्हें
लेने भेजा है ।
लङकी ने कहा - ठीक है, मैं आपके साथ चलूंगी पर मेरी माँ ने आपको एक ‘पासवर्ड’ बताया होगा । जो सिर्फ़ उन्हें और मुझे ही पता है । आप पहले वह पासवर्ड मुझे बतायें ।
अजनबी सकपकाया और वहाँ से खिसक लिया ।

दरअसल इस बच्ची और उसकी माँ ने तय किया हुआ था कि अगर कभी बच्ची को लेने किसी 
अजनबी को भेजने की नौबत आई । तो माँ उसे पासवर्ड बतायेगी और बच्ची भी पासवर्ड 
को जान लेने के बाद ही उस अजनबी के साथ जायेगी । 
देखा कितना आसान तरीका है, बच्चों को किसी दुर्घटना से बचाने का । आप भी अपने बच्चों के
साथ ऐसा पासवर्ड तय कर सकते हैं ।

ब्लाग के किसी भी चित्र को फ़ुल साइज में डाउनलोड करने हेतु पहले सिर्फ़ चित्र पर क्लिक करें । पूरा चित्र फ़ुल साइज में आ जायेगा । तब save image as द्वारा सेव कर लें
सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय 
सहज योग (क्रिया योग) ध्यान, समाधि
जनहितार्थ में प्रकाशित - मुक्तमंडल आगरा
एक टिप्पणी भेजें

Follow by Email