22 मार्च 2011

इस पुस्तक को अवश्य पढें । ये आपकी आँखे खोल देगी ।

असली नकली बाबाओं की पोल खोलती पुस्तक । कालपुरुष और उसकी पत्नी माया की असली कहानी बताने वाली पुस्तक । बृह्मा विष्णु महेश के माँ बाप और उनके जन्म विवाह आदि के बारे में बताने वाली पुस्तक ।
इस सृष्टि की शुरुआत कैसे हुयी ? कालपुरुष ने क्या क्या खेल रचाया ? अपनी पत्नी माया के साथ कैसा मायाजाल बनाकर जीव को फ़ँसाया ? संसार में धर्म पूजा में पाखंड कैसे आया । इसका दोषी कौन था ?
ऐसे सभी तमाम उठने वाले प्रश्नों का जबाब देने वाली एकमात्र पुस्तक का नाम है । अनुराग सागर ।
मैंने 100 रु मूल्य की इस अनमोल पुस्तक की अपने कई लेखों में प्रशंसा की है । और मुझे खुशी है कि कई पाठकों ने इसे खरीदकर न सिर्फ़ पढा । बल्कि उनके संतुष्टि भरे फ़ोन भी आये ।
लेकिन एक तरह से कुछ लोगों में काफ़ी चर्चित । और गूढ गुप्त होने के कारण बहुत लोगों को नामालूम । इस पुस्तक के मिलने में कठिनाई हुयी । और ये उन्हें नहीं मिली ।
ऐसे पाठकों के लिये पुस्तक मिलने के दो पते ।
प्रकाशक--अमित पाकेट बुक्स
सखूजा मार्केट
नजदीक चौक अड्डा टांडा
जालंधर । पंजाब ।
पिन 144008
( 0181 )  2212696--5076900--3951696
जालंधर । पंजाब  के आसपास के लोगों के लिये । सीधे खरीद या डाक से मंगाने का पता ।


अमित पुस्तक भंडार
ग्यान मार्केट
चौक अड्डा टांडा ।
जालंधर । पंजाब
फ़ोन-   ( 0181 )  2212696
मथुरा के आसपास के लोगों के लिये । सीधे खरीद या डाक से मंगाने का पता ।
वंदना बुक डिपो
चौक गुङहाई बाजार
मथुरा । उत्तर प्रदेश
पिनकोड 281001
फ़ोन--403493 ( 0565) STD कोड 
नोट-- मथुरा के STD कोड के प्रति कंफ़र्म नहीं हूँ । कृपया सही कोड हासिल कर इंक्वायरी करें ।


kuldeep singh पोस्ट " इस पुस्तक को अवश्य पढें । ये आपकी आँखे खोल देगी । " पर एक टिप्पणी । 

चंडीगढ या इसके आसपास के लोग इस एड्रेस से आसानी से प्राप्त कर सकते हैं ।
Running Book Vehicle Shop of Geeta Press Gorakhpur
Behind Bus Stand of Sector -17-c, chandigarh-160017
Near Fire Service Station Or Circus Ground
अगर पता ढूँढने में कोई परेशानी हो । तो मुझसे लोकली कान्टेक्ट कर सकते हैं । मेरा मोबायल नम्बर है ।
 - 98884   13419 

*** कुलदीप जी आपके द्वारा एक और पता मुहैया कराने के लिये बहुत बहुत धन्यवाद । वैसे प्रीत इन्दर जी आपसे पहचान होने से पहले इस पुस्तक को बैचेनी से तलाश कर रहे थे । आपके द्वारा कोरियर से भेजी गयी पुस्तक प्राप्त होते ही उन्होंने बेहद खुशी से मुझे फ़ोन किया । खैर..मुझे उम्मीद है । इस पुस्तक की एक प्रति आपके पास भी अवश्य होगी ।..राजीव ।

किन्ही अग्यात सज्जन ने एक और पता उपलब्ध कराया है । आपका बहुत बहुत आभार भाई । सन्तमत के इस प्रचार में सहयोग के लिये ।
बेनामी  पोस्ट " इस पुस्तक को अवश्य पढें । ये आपकी आँखे खोल देगी । " पर ।

Manoj Publications 
1583-84, Daribaa kalaan, 
Chandni Chowk, Delhi-110006 
Phone no. 23262174, 23268216 
Mobile-09818753569 
एक टिप्पणी भेजें

Follow by Email