10 फ़रवरी 2014

नान फ्लोरिडेटेड टूथपेस्ट का इस्तेमाल करिये

आंवला मुरब्बा, च्यवनप्राश और दूसरे आयुर्वेदिक खाद्य वस्तुओं को खाने से हो रहा है - कैन्सर । 1 अन्तर्राष्ट्रीय साजिश के तहत इनमें सोडियम बेंजोएट और पैराबेन नाम के खतरनाक केमिकल मिलाए जा रहे हैं प्रिज़र्वेटीव की तरह । जो आंवले में मौजूद विटामिन C से रिएक्ट कर करके " बेन्जीन " बनाते हैं । जोकि विश्व का नंबर 1 कैन्सर उत्पन्न करने वाला कैमिकल है ! मैं किसी भी आयुर्वेदिक कंपनियों पर दोषारोपण नहीं कर रहा हूँ । दरअसल उन्हें बाध्य किया जा रहा है । नए क़ानून बनाकर प्रिज़र्वेटीव डालना अनिवार्य कर दिया गया है ।
च्यवनप्राश और आंवला मुरब्बे में पहले से ही इतनी शर्करा ( शक्कर ) होती है कि वह नेचुरल प्रिसेर्वेटीव का काम करती है । और महीनों तक ठीक रहते है । बिना खराब हुए । यही हाल दन्त कान्ति और दूसरे टूथपेस्ट का है । उसमें बहुत खतरनाक सोडियम मोनो फ्लोरो फास्फेट SMFP   मिलाया जा रहा है । जो हमें निकम्मा नाकारा उत्साहहीन और गुलाम बना रहा है । IQ क्यू कम करता है । यह 1 anti ryot   ड्रग है ।.फ्लोराइड 1 धीमा जहर है । जो मस्तिष्क में स्थित पीनिअल ग्रंथि या आज्ञा चक्र को ब्लाक कर देता है । इन सबका हल आसान है । वही आयुर्वेदिक खाद्य वस्तुएं खरीदें । जिसमें यह हानिकारक कैमिकल नहीं डाले जा रहे हैं । ढूंढे तो मिल जायेंगी । दांतों के लिए नान फ्लोरिडेटेड टूथपेस्ट का इस्तेमाल करिये । और मैं पतंजलि आदि आयुर्वेदिक कंपनियों से निवेदन करना चाहता हूँ कि वे तत्काल इन प्राणघातक कैमिकलों को आयुर्वेदिक दवाओं में डालना बन्द करें । ताकि इन इलुमिनातियों ( वैश्विक दानवी सरकार ) का सारे विश्व को गुलाम बनाने का एजेण्डा नष्ट हो जाए ।
सोडियम बेंजोएट से कैन्सर उत्पन्न होने का सबूत । 
http://www.naturalnews.com/033726_sodium_benzoate_cancer.html

http://www.rense.com/general74/benz.htm
फ्लोराइड से दिमाग कमजोर और बुद्धू बनने का सबूत । 
http://fluoridealert.org/
https://www.facebook.com/FluorideActionNetwork
इलुमिनाती के लिए यहाँ देखे 
http://www.wisdom-square.com/top-10-things-you-shouldnt-know-about-the-illuminati.html
http://www.stopnwo.com
जिस प्रकार दूध में 1 बूँद भी जहर मिल जाए । तो वह फट जाता है । और पीने योग्य नहीं रहता । उसी प्रकार अमृत सामान च्यवनप्राश आदि आयुर्वेदिक वस्तुओं में सूक्ष्म सा विष भी उन्हें प्रभावहीन और विषतुल्य बना देता है । सभी से अनुरोध है । इसे अपने अपने समूह ( ग्रुप और पेजों ) में शेयर करें । research by - Naresh Arya 
http://www.naturalcuresnotmedicine.com/2013/10/why-you-should-decalcify-your-pineal.html
एक टिप्पणी भेजें

Follow by Email