05 दिसंबर 2016

दानवराज

इलूमिनाती (लैटिन इलूमिनातुस का बहुवचन) ‘प्रबुद्ध’ एक ऐसा नाम है जो कई समूहों, दोनों ऐतिहासिक और आधुनिक और दोनों वास्तविक और काल्पनिक को संदर्भित करता है । ऐतिहासिक तौर पर यह विशेष रूप से बवारियन इलूमिनाती को संदर्भित करता हैं जो 1 मई 1776 को स्थापित की गई एक प्रबुद्धता-युग गुप्त समिति है । (विकीपीडिया)
----------------
मुझे मात्र किसी देश के आर्थिक व्यवहार पर नियंत्रण चाहिए, उस देश में कौन शासन करता है इसकी मुझे कोई परवाह नही - Rothschild
--------------
#The_Mechanism_of_Zionism
#The_Big_Bank_Theory.
आचार्य चाणक्य के अनुसार दूसरों के पास अपना धन रखने वाला घोर मूर्ख होता है । उन्होंने वर्णन किया है -
उपार्जितानां वित्तानां त्याग एव हि रक्षणाम ।
तडागोदरसंस्थानां परीस्रव इवाम्भसाम । 
अर्थ - हमारे द्वारा कमाए गए धन का suitable Use करना ही धन की रक्षा के समान है । इसी
प्रकार किसी तालाब या बर्तन में भरा हुआ जल यदि उपयोग न किया जाए तो सड़ जाता है । व्यक्ति धन कमाता है तो उसका सदुपयोग करना चाहिए । काफी लोग धन को अत्यधिक collect करके रखते हैं, उसका उपयोग नहीं करते हैं ।
जैसा आज सभी लोग बैंक को अपनी पूरी संपत्ति दे रहे हैं । अगर Safety के अलावा देखें तो ये सिर्फ ‘ब्याज’ (interest) के लिये होता है और भारतीय तो इतने मूर्ख हैं कि पैसे के साथ साथ
gold को भी बैंक+gold companies को दे देते हैं ।
Dual nature - हमारे पैसों पर बैंक हमें 1-2.5% तक ब्याज देता है । जबकि अगर हम ही इससे loan मांगे तो भयंकर कागजी कार्रवाई के साथ 9-12% ब्याज चुकानी पङेगी ।
मतलब लगभग 4 गुना ब्याज ।
दरअसल Banking system बहुत vital role play करता है zionism में ।
ये Mechanism_of_Zionism का महत्वपूर्ण लिंक है ।
1 हर साल सैकङों गरीब किसान loan के बाद चुका नहीं पाते और आत्महत्या के शिकार होते हैं । बैंक फिर घर-खेत की कुर्की कर लेते हैं । यानि पैसों के बदले जमीन मिली ।
2 Economic control = nation control
3 Cashless society को बढ़ावा देने के साथ ही पब्लिक को digital करते हैं यानि पूरा कंट्रोल
computer पर ।
4 Cashless society = full invisible control by bank mafias.
Cashless future - आज आप ज्यादातर बैंको में बिना account के draft नहीं बनवा सकते । Account जरूरी है । ये होगा तो आदमी कुछ पैसा भी रखेगा ।
पैसा अंदर, कार्ड बाहर, हो गये Cashless
अब आपके पैसे पर computer का राज है ।
Banking system की पिक्चर को Superhit करने में debit+credit card का hero जितना
योगदान है ।
1 Credit card से आप कर्जा ले सकते हैं, तुरन्त shopping करके कर्ज में डुबकी लगाओ ।
2 कार्ड होगा तो fast+huge shopping होगी । Manufacturing industry चमकेंगी ।
3 credit card से कोई भूखा नही मरेगा, सबको कर्ज मिलता है ।
4 इस कार्ड का रसगुल्ला मीठा तो है लेकिन डायबिटीज जल्दी करता है । आदत बुरी चीज होती है ।
पहला आधुनिक बैंक इटली में 1406 में स्थापित किया गया था, इसका नाम बैंको दि सैन जिओर्जिओ (सेंट जॉर्ज बैंक) था । ब्याज बैंक की oxygen होती है ।
आज लगभग हर बैंक Jacob Rothschild banking system पर आधारित है ।
भारत में RBI प्रमुख कठपुतली है rothschild की ।
Rothschild Banking Dynasty के संस्थापक Mayer Amschel Rothschild ने कहा था -  ‘मुझे मात्र किसी देश के आर्थिक व्यवहार पर नियंत्रण चाहिए, उस देश में कौन शासन करता है इसकी मुझे कोई परवाह नही ।’
यहाँ आप ध्यान दीजिए ।
The Rothschilds पूरी दुनियां के 200 से अधिक देशों को मात्र Money Power से control करते हैं । बाकी उस देश में कौन सा शासक शासन कर रहा है उसकी इनको कोई चिंता नही

इनकी सफलता का रहस्य है ‘Fractional Reserve Banking System’ 
अब आपको Zionism का Basic समझ आ गया होगा ।
इन सभी समस्याओं के मूल हैं - Israeli bank mafia
मात्र 20,000 Sq. Km area + 90 लाख जनसंख्या वाला देश Israeli ये दुनियां के राजाओं का देश है । आप इस देश के आकार पर मत जाईए क्योंकि यहूदी हमेशा 100 साल आगे की प्लानिंग बनाकर चलते हैं । ये लोग Mind Game के Expert हैं । इतने बडे अमेरिका को इतना छोटा इजरायल वहाँ अपने यहूदी बंधुओं के सहयोग से control करता है ।
(sayanim) और अमेरिका Israel के लिए दुनियां का नेता बने घूमते रहता है । US अपने लिए कुछ भी नहीं करता । वो सब कुछ Israeli Banker Mafias के लिए करता है । इन बैंकर माफियाओं का उद्देश्य है विश्व के लोगों को नास्तिक बनाकर अपना एक नया धर्म स्थापित करके New World Order लाना ।
इसके लिए ये लोग भारत के पीछे हाथ धोकर पङे है क्योंकि कलियुग में धर्म का आखिरी चरण मात्र भारत में ही सुरक्षित है ।
हमारी परिवार व्यवस्था को तोङने के लिए हमारे समाज में Lesbian, Gay, लिव इन रिलेशनशिप जैसे भद्दे कर्म की विचारधारा, स्त्री-पुरुष समानता की विचारधारा घुसेङने वाली यही Israeli Banker Mafias है । 
ये लोग दानव है । ये लङाई धर्म और अधर्म के बीच है ।
International Politics + industrial control -  
संयुक्त राष्ट्रसंघ (U.N) विश्व आरोग्य संस्था (WHO) UNICEF जैसी बडी संस्थाएँ इनकी बपौती
हैं । क्योंकि इनके संस्थापक भी यही लोग है । इसलिए ये संस्था वही निर्णय करती है जो इन Bankster Mafias के हित में होता है ।
U.S Army+NATO को कई बार मजाकिया तौर पर Israel की राष्ट्रीय सेना भी कहा जाता है । #NATO और अमेरिकी सेना दुनियां भर में अपने Base बनाकर पूरे विश्व को अपने नियंत्रण मे ले रही है ।
अमेरिका की Federal Reserve, Switzerland की Swiss Banks, इंग्लैंड की Bank Of England, भारत की Reserve Bank Of India सहित विश्व के अन्य सभी देशों के Central बैंकों पर इन यहूदी बैंकर माफियाओं का कब्जा है ।
इन Banksters के हाथ में बङी बङी Multinational Companies जैसे कि Pepsi, Coca Cola, McDonalds, KFC, MONSANTO, Cargill, Pharma Companies, GAZPROM, Schulmberger, De Beers सहित सभी बङी बहुराष्ट्रीय कंपनियां इनके नियंत्रण में हैं । 
ज्ञात रहे इन बङी कंपनियों में विश्व में Gold, Diamond, लोखंड, गैस, तेल के उत्पादन क्षेत्रों में Monopoly रखने वाली कंपनियों का समावेश होता है । इस प्रकार से विश्व में मौजूद प्राकृतिक संसाधनों पर इनका पूरा control है ।
ये चंद मुठ्ठी भर लोग विश्व की 7 अरब की आबादी पर नियंत्रण करते हैं ।
पहले ये माफिया विश्व के देशों को जबरदस्ती WTO, GATT जैसी भयंकर संधियों पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर करते हैं । इस प्रकार के संधियों में जो शर्तें होती हैं । वो शर्तें हमेशा MNCs के हित में ही होती है । उन देशों को Loan देने के बहाने उन देशों को कर्ज के मायाजाल मे फंसा देते हैं । फिर बाद में वहाँ की कठपुतली सरकार द्वारा उस देश के प्राकृतिक संसाधनों की लूट मचाना शुरु कर देते हैं । उसके संसाधनों पर नियंत्रण कर लेते हैं ।
यदि किसी देश की सरकार इन बैंकर माफियाओं की आज्ञा मानने से मना करती है तो ये लोग अपने नियंत्रण की Print-Social-Electronics Media के उपयोग द्वारा उस सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार करवाते हैं । उस देश के विपक्ष को भी इस काम में अपने पाले में ले लेते हैं
Example - इराक में सद्दाम हुसैन, Egypt के राष्ट्रपति होस्नी मुबारक, Libya के तानाशाह
मुअम्मर गद्दाफी को बैंकर माफियाओं की disrespect (आज्ञा की अवहेलना) करने के कारण सत्ता से दूर होना पङा और उनमें से सद्दाम हुसैन + गद्दाफी को मौत के घाट भी इन्ही बैंकर माफियाओं ने उतारा था ।
जो नेता इन Banksters का विरोध करेगा उसको मौत के घाट उतार दिया जायेगा । ये काम CIA, Mossad-Sayanim, MI6 जैसी जासूसी संस्थाओं द्वारा करवाया जाता है ।
जैसा पहले कहा गया है ‘अगर आप बैंक लूटना चाहते हैं तो आप बंदूक खरीद लें और अगर पूरे शहर को लूटना है तो एक बैंक खोल लें ।’
अंत में एक सवाल - कर्ज का मर्ज नहीं होता । भारत से लेकर अमेरिका तक कर्ज में है ।
कहा जाता है कि दुनियां पर सैकङों trillion का कर्ज है । ये कर्ज किसने चढ़ा रखा है ? 
जवाब जरूर दें ।
-----------------
आभार : Venkatesh Bhrugu
Statutory warning : share करें, बिना साभार किये कापी पेस्ट का लाभ उठाकर bank mafia की तरह लोभी न बनें । धन्यवाद !
-------------------

एक अत्यंत नीच रहस्यमय दुनिया - इलुमिनाटी 1
http://searchoftruth-rajeev.blogspot.com/2012/12/1.html
एक अत्यंत नीच रहस्यमय दुनिया - इलुमिनाटी 2
http://searchoftruth-rajeev.blogspot.com/2012/12/2.html

एक टिप्पणी भेजें

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Follow by Email